काबुल बम धमाका 2021

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के पश्चिमी हिस्से में 8 मई 2021 को एक स्कूल के नजदीक बम विस्फोट हुआ। इस धमाके में लगभग 85 लोगों की मृत्यु हो गई और 150 से अधिक लोग घायल हो गए।[1][2] यह विस्फोट अफगानिस्तान के सईद अल-शुहादा स्कूल के निकट हुआ। यह विस्फोट एक गाड़ी के भीतर हुई। विस्फोट के बाद तत्काल ही दो और विस्फोट हुए। हताहतों में अधिकांश 11 और 15 वर्ष की उम्र की लड़कियां थीं। माना जा रहा है कि विस्फोट के इस क्षेत्र में अक्सर इराक़ के क्षेत्रीय उग्रवादियों का हमला होता आया है।[3]

काबुल बम धमाका 2021
स्थान काबुल, अफगानिस्तान
तिथि 8 मई 2021
हमले का प्रकार बम विस्फोट
हथियार वाहन
मृत्यु 85
घायल 150+

विस्फोट के बाद क्षेत्रीय जनों ने सरकार की लापरवाही के विरुद्ध ज़ोर-शोर से नारें लगाएँ। उनका मानना है कि ये जानते हुए कि यह क्षेत्र आतंकवादियों से पीड़ित रहता है, सरकार ने कोई विशेष सुरक्षा का प्रबंध नहीं किया। लोगों ने दुर्घटना का जिम्मेदार राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी अहमदज़ई को ठहराया और उनके विरुद्ध नारें लगाएँ।[4]

हमले की पृष्ठभूमिसंपादित करें

काबुल के सईद अल-शुहदा स्कूल के प्रवेश द्वार के सामने यह दुर्घटना एक वाहन के भीतर रखें बम के विस्फोट के रूप में हुआ। इस दुर्घटना में घायल होने वालो में छात्राओं की संख्या अधिक है।[5]

एक स्कूल शिक्षक ने दुर्घटना का इस प्रकार वर्णन किया कि, "विस्फोट सबसे पहले एक वाहन में हुआ और फिर बालिका विद्यालयों के पास दो और विस्फोट हुए। आंतरिक मंत्रालय के प्रवक्ता ने भी अपने बयान में कहा है कि प्रारंभिक विस्फोट एक कार बम था[6]

घायल छात्रों में से एक ने कहा है कि विस्फोट होने पर वह स्कूल छोड़ रही थी और लगभग दस मिनट बाद दो और विस्फोट हुआ। उसने आगे बताया कि सभी लोग खून से सने थें। मलबे और निजी सामान मैदान के आसपास बिखरे हुए थे।[7]

हताहतों की संख्यासंपादित करें

बमबारी के दिन 58 लोगों के मारे जाने और 160 से अधिक लोगों के घायल होने की रिपोर्ट दर्ज़ की गई थी। हमले के एक दिन बाद, मरने वालों की संख्या बढ़कर 85 हो गई। पीड़ितों में से अधिकांश 18 वर्ष से कम उम्र की स्कूली छात्राएं थीं। अस्पताल में अधिकांशतः पीड़ितों की उम्र 12-20 वर्ष की दर्ज़ की गई।[8][9]

विस्फोट के बादसंपादित करें

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी अहमदज़ई ने आतंकवादी हमले की निंदा की और घटना के मद्देनजर 11 मई को राष्ट्रीय शोक दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की।[10] राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी अहमदज़ई ने हमले के लिए तालिबान को दोषी ठहराया, लेकिन तालिबान के प्रवक्ता ज़बीउल्लाह मुजाहिद ने मीडिया को जारी एक संदेश में हमले में शामिल होने से इनकार किया। तालिबान के प्रवक्ता ने भी हमले की निंदा की और आईएसआईएस को हमले के लिए जिम्मेदार ठहराया। इसके अतिरिक्त उन्होंने अफगानिस्तान के खुफिया विभाग पर आई.एस के साथ मिलीभगत का आरोप लगाया।[11]

घटना के बाद कई पीड़ितों के परिवार वावे भड़क उठें। उन्होंने बमबारी का जिम्मेदार सरकार की लापरवाही को ठहराया। कई लोगों ने तो घटना स्थल पर मौजूद पुलिस कर्मचारियों से हाथापाई भी की। लोगों ने सरकार के विरुद्ध जोरो से नारे लगाएँ।[12]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. CNN, Jennifer Deaton and Sheena McKenzie. "Death toll rises to 85 in Afghanistan girls' school bomb attack" [अफगानिस्तान के स्कूल बम विस्फोट में मृतकों की संख्या 85 तक पहुंच गई]. सी.एन.एन. अभिगमन तिथि 13 मई 2021.
  2. "अफगानिस्तान: काबुल में स्कूल के पास हुआ धमाका, मृतकों की संख्या 58 पहुंची, अधिकतर स्कूली बच्चे". अमर उजाला. अभिगमन तिथि 13 मई 2021.
  3. "Bomb kills at least 30 near girls' school in Afghan capital" [अफगानिस्तान के राजधानी में 30 स्कूल की लड़कियों की मृत्यू बम फूटने से हुई]. एन.बी.सी न्यूज़ (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 13 मई 2021.
  4. Latifi, Ali M. "'School is where you die': Afghans lament after deadly blasts". www.aljazeera.com (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 13 मई 2021.
  5. "Blasts targeting Afghan school in Kabul kill 40, injures dozens" [काबुल के स्कूल बम विस्फोट में 40 लोगों की मृत्यु हुई और पीड़ितों की संख्या दर्जनों में है]. nationalpost (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 13 मई 2021.
  6. "Blasts Near Girls' School in Kabul; 30 People Killed" [काबुल के बालिका विद्यालय के पास बम विस्फोट; 30 लोगों की मौत]. TOLOnews (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 13 मई 2021.
  7. "Death toll soars to 50 in bombing near girls' school in Afghanistan". Associated Press. 8 मई 2021. अभिगमन तिथि 13 मई 2021.
  8. CNN, Jennifer Deaton and Sheena McKenzie. "Death toll rises to 85 in Afghanistan girls' school bomb attack" [अफगानिस्तान के स्कूल बम विस्फोट में मृतकों की संख्या 85 तक पहुंच गई]. सी.एन.एन. अभिगमन तिथि 13 मई 2021.
  9. "अफगानिस्तान: काबुल में स्कूल के पास हुआ धमाका, मृतकों की संख्या 58 पहुंची, अधिकतर स्कूली बच्चे". अमर उजाला. अभिगमन तिथि 13 मई 2021.
  10. Nossiter, Adam (9 मई 2021). "'Why Do We Deserve to Die?' Kabul's Hazaras Bury Their Daughters". द न्यूयार्क टाइम्स. अभिगमन तिथि 13 मई 2021.
  11. "Bomb kills at least 30 near girls' school in Afghan capital" [अफगानिस्तान के राजधानी में 30 स्कूल की लड़कियों की मृत्यू बम फूटने से हुई]. एन.बी.सी न्यूज़ (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 13 मई 2021.
  12. "Death toll soars to 50 in bombing near girls' school in Afghanistan". Associated Press. 8 मई 2021. अभिगमन तिथि 13 मई 2021.